Tulsi Patte के 7 गुण और फायदे 2022 Hindi Me Jane Full Detailed

5/5 - (1 vote)

Tulsi Patte Ke Gun Fayde | तुलसी पत्ते के गुण एवं फायदे | हिन्दी में जाने तुलसी पत्ते के चमत्कारी लाभ

Tulsi Patte: तुलसी को पवित्र पौधा के रुप में पूजा जाता है, तुलसी का पौधा एक ऐसा पौधा है, जो भारत देश में लगभग हर घर में देव रुप में स्थित होता है, बड़ा हो या छोटा आदमी इसे अपने घर में अवश्य लगाता है,

भारत देश में इसे अपने घर में लगाना अति शुभ माना जाता है, धार्मिक मान्यता के साथ-साथ कई वैज्ञानिक कारण भी है, तुलसी स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभकारी है,

माना जाता है कि घर के आँगन में तुलसी होने से रोग विकार घर में प्रवेश ही नहीं कर पाते है, तुलसी की पूजा अर्चना पूरी श्रद्धा एवं भावना से स्त्री प्रतिदिन सुबह-सुबह करती है,

कई युगों से तुलसी को एक औषधि के रूप में भी देखा जाता है, इसकी पत्तियों से लेकर फल तना सबों में फायदा ही फायदा ही पाया जाता है।

तुलसी एक पौधा नहीं है बल्कि यह वरदान है। इसमें हजारों गुण है। इसीलिए इसका पूजन किया जाता है। इसका नियमित सेवन किया जाय तो काफी सारे बीमारी से बचाव हो सकता है। इसे लक्ष्मी का रुप भी कहा जाता है।

Tulsi Patte Ke Gun Fayde | तुलसी पत्ते के गुण फायदे

tulsi patte

वातारण शुद्ध करने में

तुलसी के पत्ते ऑक्सीजन को ज्यादा से ज्यादा रिलीज करते है जिससे वायुमंडल शुद्धिकरण में काफी सहायक होता है और वायु शुद्ध हो जाता है वातावरण सुगंधित रहता है।

शरीर की प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि

तुलसी के पत्ते के प्रतिदिन सेवन शरीर के प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि करती है. जिससे सर्दी खांसी बुखार आदि कई छोटे छोटे बीमारी से बचाव होता है। इसका सेवन सुबह सुबह गर्म पानी के साथ करना सेहत के काफी लाभदायक होता है।

दिमागी तनाव कम करने में

तुलसी के पत्ते में Anti Stress Agent जैसे तत्व पाये जाते है जोकि मानसिक तनाव को कम करने मे अत्यन्त ही लाभकारी होते है।

कई बार लोग तनाव करने के लिए धुम्रपान का सहारा लेते है जिससे कई सारी बिमारी होने खतरा होता है धुम्रपान करने से कैंसर जैसे कई खतरनाक बिमारी की चपेट में लोग आ जाते है। लेकिन तुलसी के पत्ते का नियमित सेवन किया जाय तो दिमागी तनाव का खतरा से बचा जा सकता है।

NCBI  (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फोर्मेशन) द्वारा प्रकाशित एक शोध में यह बतालाया गया है, कि इसमें एंटीस्ट्रेस गुण होते हैं, जो स्ट्रेस से आराम दिलाते हैं।

पूजन एवं धार्मिक कार्य में

हिन्दू धर्म में तुलसी को देव रुप में पूजा जाता है। सभी पूजन संबंधित कार्य में आवश्यक रुप से इसका इस्तेमाल किया जाता है। तुलसी को लक्ष्मी माता के रुप में पूजन किया जाता है।

त्वचा के निखार बढ़ाने में

तुलसी के पत्ते के अनेको फायदे है त्वचा के निखार के लिए जो दवाए बनायी जाती है। उसमें तुलसी के पत्ते का भी इस्तेमाल किया जाता है। नियमित रुप से यदि तुलसी पत्ते का सेवन किया जाय तो त्वचा का निखार में आश्चर्यजनक रुप से वृद्धि दिखायी देती है।

बुखार को ठीक करने में

सर्दी खांसी बुखार आदि शरीर में इम्युनिटि की कमी से हो जाते है, लेकिन यदि तुलसी के पत्ते के नियमित सेवन किया जाय तो बुखार या अन्य प्रकार के रोग जल्दी नहीं होते है। यदि होते है तो जल्दी ठीक हो जाते है।

पाचन शक्ति बढ़ाने में लाभकारी

तुलसी पत्ते पाचन शक्ति बढ़ाने काफी ज्यादा लाभकारी होते है इससे पेट में जलन या ऐसिडिटी की समस्या दूर रहती है। शरीर के पी एच लेवल को संतुलित रखता है।

तुलसी पत्ते के अन्य फायदे

  • तुलसी के 1/2 पत्ते चबाने से मुँह के दुर्गध ठीक हो जाते है
  • तुलसी के 1/2 पत्ते सुबह सुबह चबाया जाय तो स्मरण शक्ति में अत्यन्त वृद्धि होती है
  • तुलसी के तेल से बालो में रुसी एवं झरने जैसी समस्या दूर हो जाती है

तुलसी की प्रजातियाँ

तुलसी की सामान्यतः निम्न 7 प्रजातियाँ पाई जाती हैंः-

  • ऑसीमम सैक्टम
  • ऑसीमम वेसिलिकम (मरुआ तुलसी) मुन्जरिकी या मुरसा
  • ऑसीमम वेसिलिकम मिनिमम
  • आसीमम ग्रेटिसिकम (राम तुलसी / वन तुलसी / अरण्यतुलसी)
  • ऑसीमम किलिमण्डचेरिकम (कर्पूर तुलसी)
  • ऑसीमम अमेरिकम (काली तुलसी) गम्भीरा या मामरी
  • ऑसीमम विरिडी

इनमें ऑसीमम सैक्टम को प्रधान या पवित्र तुलसी के रुप में जाना एवं माना जाता है। इसकी भी दो प्रधान प्रजातियाँ हैं- पहली श्री तुलसी, जिसकी पत्तियाँ हरी होती हैं तथा दूसरी कृष्णा तुलसी (या श्यामा तुलसी) जिसकी पत्तियाँ नीलाभ-कुछ बैंगनी रंग की होती हैं।

श्री तुलसी के पत्ते तथा शाखाएँ श्वेताभ होते हैं जबकि कृष्ण तुलसी के पत्ते कृष्ण रंग के होते हैं। धर्म एवं गुण की दृष्टि से काली तुलसी को ही श्रेष्ठ माना गया है, परन्तु अधिकांश विद्वानों का मत है कि दोनों ही तुलसी गुणों में समान होते हैं।

तुलसी पत्ते सेवन के तरीके

तुलसी पत्ते का सेवन सही तरीके से किया जाय तो इससे असीमित लाभ प्राप्त किया जा सकता है

  • तुलसी के पत्ते का काढ़ा के रुप सेवन किया जाय
  • तुलसी के पत्ते का अर्क गर्म पानी के साथ सेवन किया जाय

Conclusion

तुलसी पत्ते से अनेको फायदे है जिनसे शरीर के कई रोग एवं विकार दूर होते है। इस पोस्ट के माध्यम से दी गयी जानकारी अच्छी हो तो इसे शेयर करे लाईक करें। किसी भी शिकायत या सुझाव को हमें कमेंट अवश्य करें।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान हेतु है, यह जानकारी किसी भी प्रकार से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है, निवेदन है कि अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श अवश्य करें. हिन्दी में जाने इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करती है

FAQs

प्र. तुलसी का पानी पीने और पत्ते खाने के फायदे

उ. तुलसी का पानी पीने और पत्ते खाने से शरीर के रोग प्रतिरोधक क्षमता में काफी ज्यादा वृद्धि होती है जिससे सर्दी खाँसी बुखार तनाव आदि कई बिमारी को ठीक करने में काफी लाभदायक होती है।

प्र. तुलसी का पत्ता क्यों नहीं खाना चाहिए?

उ. तुलसी का पत्ता उचित मात्रा से अधिक नहीं खाना चाहिए क्योंकि इसमें पारा एवं खनिज पाये जाते है जिससे दांतो को नुकसान होता है लेकिन सही मात्रा में सेवन से शरीर को बेहद ही लाभ होते है।

प्र. तुलसी का पत्ता खाली पेट खाने से क्या फायदा?

उ. तुलसी का पत्ता खाली पेट खाने से शरीर के प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि के साथ पाचन शक्ति में वृद्धि करती है। जिससे शरीर स्वस्थ रहता है।

Manoj Verma
Manoj Vermahttps://hindimejane.net
Hi, This is Manoj Verma, Founder of hindimejane.net, Blogger, IT Professional, Website Designer, Website Developer

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

369FansLike
236FollowersFollow
109SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles