Friday, May 20, 2022
HomeUnique21 Benefit of Regular Exercise | नियमित व्यायाम के शारीरिक और मानसिक...

21 Benefit of Regular Exercise | नियमित व्यायाम के शारीरिक और मानसिक लाभ – हिन्दी में जाने 2022

Essay on vyayam in hindi, Vyayam ke labh, Benefit of Regular Exercise:- आप लोग ये तो जानते ही होंगें, कि व्यायाम के स्वास्थ्य लाभ बहुत से है| जो आपके शरीर के लिए अच्छा है। लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि यह कब करना चाहिए, कैसे करना चाहिए,और यह अवसाद, चिंता, तनाव और बहुत से समस्याओं से भी निपटने में कितना प्रभावी है।

अगर आप का जबाब नही है, तो आप बिलकुल सही जगह पर आये है इस लेख को पूरा पढ़िए,इससे आपके सारे प्रश्नों का उत्तर मिल जायेगा|

तो देर न करते हुए चलिए शुरू करते है,इन जानकारियों का सफ़र

Contents

Benefit of Regular Exercise क्या है ?

वह गतिविधि जो शरीर को स्वस्थ रखने के साथ साथ व्यक्ति के समग्र स्वास्थ्य का विकास करता है इसे हम व्यायाम या योग कह सकते है|

यह क्यों करना चाहिए ?

इसे सभी लोग अपने जरूरतों के हिसाब से अलग-अलग कारणों से करते हैं इसमें यह शामिल हो सकते है –जैसे मांशपेशियों को मजबूत करना, ह्रदय प्रणाली को सुदृढ़ करना, एथलेटिक कौशल बढ़ाना, मोटापा कम करना, वजन कम करना या फिर आनंद प्राप्त करना आदि|

Benefit of Regular Exercise कितने प्रकार के है

सामान्य तौर पर व्यायाम को मानव शरीर पर पड़ने वाले प्रभाव के आधार पर इसे तीन भागों में बाँटा गया है।

नम्यक(लचीलापन) व्यायाम –जैसे की शरीर के भागों को खींचना, दायें बायें घुमाना, उठक बैठक करना और घूमना, आदि।

एरोबिक व्यायाम (Aerobic Exercise)– साईकिल को चलाना, तैराकी करना, नौकायन, दौड़ लगाना, पैदल यात्रा करना, टेनिस खेलना,

एनारोबिक व्यायाम (Anaerobic Exercise) – वजन को उठाना, क्रियात्मक प्रशिक्षण करना, छोटी दुरी के तेज दौड़ लगाना,

Benefit of Regular Exercise (व्यायाम के लाभ)

इसके कुछ शारीरिक लाभ है, जो इस प्रकार से है,

बौद्धिक स्वास्थ्य को बढ़ावा मिलना

नियमित रूप से 20 से 25 मिनट के लिए एक्सरसाइज करने से दिमाग पर गहरा प्रभाव पड़ता है |यह आपके मुड को भी ठीक करता है ,इससे उतरार्ध में होने वाली पागलपन जैसे लक्षणों से भी बचा जा सकता है|

सेक्स का मजेदार होना

नियमित व्यायाम करने से आपके शरीर में उर्जा का संचार होता है जिससे आप आपने साथी को प्रसन्न लगते है, प्रतिदिन व्यायाम से महिलाओ में उतेजना बढती है, और पुरुषों में सेक्स सम्बन्धी समस्याओं  में कमी आती है|

चिंताओं का दूर होना

एक्सरसाइज दद्वारा आने वाली शांति के एहसास से लगातार आने वाली चिंताएं दूर होती है और आत्मविश्वास के बढ़ने से दिमाग से परेशानियाँ दूर होती है|

ह्रदय का स्वस्थ होना

रेगुलर रूप से व्यायाम करने वाले लोग आसानी से जानलेवा ह्रदय रोग से दूर रह सकते है, शारीरिक श्रम के साथ आप लम्बे समय तक स्वस्थ ह्रदय के साथ जीवन व्यतीत कर सकते है|

वजन का नियंत्रित रहना

स्वस्थ शरीर वाला वजन पाना सभी के लिए एक सपने के समान होता है और नियमित व्यायाम कर आप अपने हरीर का मनचाहा भार प्राप्त कर सकते है, यदि आप व्यायाम के साथ अन्तुलित आहार ले तो आप आसानी से बढे हुए भर से छुटकारा पा सकते है।

मधुमेह का खतरा कम होना

व्यायाम से वजन ही कम नहीं होता बल्कि मोटे लोगों में उम्र के साथ मधुमेह का खतरा भी बढ़ता है नियमित व्यायाम से खून में चीनी की मात्रा नियंत्रित रहती है जिसे मधुमेह का खतरा भी कम होता है|

ब्लड प्रेशर का सामान्य रहना

बढ़ा हुआ रक्तचाप छिपित रूप से मृत्यु की ओर ले जाता है अपने आप को उच्च रक्त चाप से बचाने के लिए नियमित रूप से व्यायाम करना चाहिए, व्यायाम से रक्त संचार बढ़ जाता है और कार्यरत मांश्पेशियों में अधिक मात्र में ऑक्सीजन प्रवाहित होता है इसे रक्त वाहिकाएं भी शिथिल होती है और रक्तचाप में कमी आती है।

 सहनशक्ति का बढ़ना

benefit of regular exercise

व्यायाम से पसीना आता है और थकावट आती है जिससे सहनशक्ति में वृद्धि और मांशपेशियो में थकावट की कमी जैसे दूरगामी परिणाम प्राप्त होते है|

प्रतिरक्षा तंत्र मजबूत होता है

नियमित एक्सरसाइज करने से प्रतिरक्षणतंत्र मजबूत होता है और आप सर्दी जुकाम जैसी सामान्य बीमारी से बचे रहते है|

आपका स्वस्थ रहना

एक्सरसाइज करने से शरीर स्वस्थ रहता है जिससे मोटापा मधुमेह ह्रदय रोग उच्च रक्तचाप और आघात जैसी समस्याओ का खतरा कम होता है|

कोलेस्ट्राल की मात्र कम करता है

व्यायाम से अच्छे कोलेस्ट्राल की मात्रा बढ़ती है जबकि ख़राब कोलेस्ट्राल की मात्र को कम करता है जिससे शरीर में कोलेस्ट्राल की मात्र नियंत्रण में रहता है और दिल का दौरा पड़ने की संभावना को कम करता है |

मांशपेशियों का मजबूत होना

benefit of regular exercise

नियमित तौर पर व्यायाम करने से मांशपेशियों में मजबूती आती है जिसे आपको बुढ़ापे में भी बहुत सी लाभ देखने को मिल सकता है|

मुड ठीक करता है

अगर आप मानिक रूप में अच्चा फिल करना चाहते है तो आपको अपने जिम की तरफ ही जाना चाहिए और व्यायाम करना चाहिए यह मष्तिक के रसायनों को उत्तेजित करता है जो आपके मुड को ठीक कर सकता है|

उर्जा का संचार होना

नियमित व्यायाम से आपकी मंश्पेशियाँ मजबूत होप्ती है ,उर्जा का संचार होता है और सहनशक्ति आती है, जो हमारे उतकों को पर्याप्त मात्र में आक्सीजन देने में सहायता करता है, और हमारा मन अर्थात मुड सही रहता है|

अच्छी नींद का आना

अपने ऑफिस या दफ्तर में थकावट भरे दिन पुरे होने के बाद व्यायाम करने के बाद शरीर थक जाता है बिस्तर पर्जाते ही गहरी नींद को प्राप्त कर लेते है लेकिन ध्यान दें सोने से तुरंत पहले एक्सरसाइज कभी न करें|

हड्डियों का मजबूत होना

रेगुलर  एक्सरसाइज करने से हड्डी बनने की प्रक्रिया को तेजी मिलती है जिशे हड्डी स्वस्थ रहता है और अर्थराइटिस  जैसी बिमारियो से बचा जा सकता है|

कैंसर का खतरा कम होता है

व्यायाम से अंत स्तन और फेफड़ों के कैंसर के खतरे को कम किया जा सकता है जीवन में व्यायाम को जोड़कर विभिन्न प्रकार के कैंसरों से आप अपने आप को बचा सकते है|

चिरायु होना

अगर आप चाहते की की लम्बा जियें तो आपको योग ,प्राणायाम और व्यायाम इ दूर नही भागना होगा इससे न केवल आपका जीवन लम्बा होगा बल्कि आप स्वस्थ रूप इ बूढ़े होंगे |

पीठ दर्द में आरामदायक

जिनको  पीठ में दर्द, और ख़राब शारीरिक मुद्रा की शिकायत है,वे व्यायाम इ खिचाव उत्पन्न करके इन परेशानियों से निजात पा सकते  है|

यादाश्त शक्ति का बेहतर होना

नियमित व्यायाम से मष्तिष्क में रसायनों की मात्रा बढ़ जाती है जिससे नयी कोशिकाओ का निर्माण होता है जिससे यदाश्त्त  शक्ति में वृधि होती है|

व्यायाम केवल शारीरिक क्षमता और मांसपेशियों के आकार को बनाने के लिए नहीं है। ज़रूर, व्यायाम आपके शारीरिक स्वास्थ्य और आपके शरीर को बेहतर बना सकता है, आपकी कमर को पतला कर सकता है, आपके यौन जीवन में सुधार कर सकता है और यहां तक कि आपके जीवन में साल वृधि भी कर सकता है।

जो लोग प्रतिदिन व्यायाम करते हैं, वे ऐसा इसलिए करते हैं क्योंकि इससे उन्हें सहजता का आभास होता है। वे पूरा दिन अधिक ऊर्जावान महसूस करते हैं, रात में बेहतर सोते हैं, अच्छी यादास्त क्षमता  रखते हैं, और अपने और अपने जीवन के बारे में अधिक आराम और सकारात्मक महसूस करते हैं।

यह कई सामान्य मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं के लिए भी शक्तिशाली, लाभदायक और  असरकारी दवा हो सकती है।

नियमित व्यायाम से अवसाद, चिंता, भूलने की बीमारी, घबराहट, जैसी परेशानियों में भी लोगों पर गहरा सकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है।

यह तनाव से भी छुटकारा दिलाता है, याददाश्त में सुधार करता है, आपको बेहतर नींद में मदद करता है, और आपके चित्त को प्रसन्नता देता है।

मानसिक लाभ – Benefit of Regular Exercise

व्यायाम के मानसिक लाभ कुछ इस प्रकार है

व्यायाम और अवसाद

कई अध्ययनों से पता चलता है कि व्यायाम हल्के फुल्के अवसाद को प्रभावी रूप से अवसादरोधी दवा के रूप में इलाज भी कर सकता है-और वो भी बिना किसी साइड-इफेक्ट के। एक उदाहरण के रूप में, हार्वर्ड टी.एच. चैन स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के किये गए एक शोध में पाया गया कि दिन में 15 मिनट दौड़ना या एक घंटे तक चलना प्रमुख अवसाद (Depression) के जोखिम को 26% तक कम कर देता है।

अवसाद के लक्षणों से राहत पाने के अलावा, शोध यह भी दर्शाता है कि व्यायाम को अपनी दिनचर्या में बनाए रखने से आप तनाव से भी बच सकते हैं।

व्यायाम कई परेशानियों में एक शक्तिशाली अवसाद से लड़ने वाला (Depression Fighter) है। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है की व्यायाम मस्तिष्क में सभी प्रकार के बदलावों को बढ़ावा देता है, जिसमें तंत्रिका विकास और नए गतिविधि पैटर्न शामिल हैं,जो शांत और भलाई की भावनाओं को बढ़ावा देते हैं।

यह आपके मस्तिष्क में एंडोर्फिन नामक शक्तिशाली रसायनों को भी जमा करता है जो आपकी आत्माओं को सक्रिय करता है और आपको ख़ुशी महसूस कराता है। और नकारात्मक विचारों के चक्र से बाहर निकलने के लिए आत्मा को शांति प्रदान करता है।

 व्यायाम और चिंता

व्यायाम एक प्राकृतिक और प्रभावी चिंता दूर करने वाला उपचार है। यह तनाव से छुटकारा दिलाता है, शारीरिक और मानसिक ऊर्जा को बढ़ाता है, और एंडोर्फिन की रिहाई के माध्यम से भलाई को बढ़ाता है।

व्यायाम आपके शरीर में खिचाव लाता है,और कई प्रकार के हार्मोन को उत्तेजित करता है, इसके साथ ही यह तंत्रिका तंत्र को भी ठीक करता है,जब आप योग करते है तो आपके पुरे शरीर में तनाव आता है इससे आपका दिमाग शांत होता है जिससे शरीर को आराम मिलता है|

इसके आलावा अगर आप जानना चाहते है की व्यायाम आपके शरीर को कितना फायदा देता है तो आप आज से ही शुरू कर दीजिये परिणाम जल्दी ही देखने को मिलेगा|

व्यायाम और तनाव

कभी आपने देखा है कि जब आप तनाव में होते हैं तो आपका शरीर कैसा महसूस करता है? आपकी मांसपेशियों में तनाव हो सकता है, विशेष रूप से आपके चेहरे, गर्दन और कंधों में, जो आपको पीठ या गर्दन के दर्द या दर्दनाक सिरदर्द के साथ छोड़ देता है।

आप अपनी छाती में एक कसाव,  नाड़ी या मांसपेशियों में ऐंठन महसूस कर सकते हैं। आप अनिद्रा, नाराज़गी, पेट दर्द, दस्त, या बार-बार पेशाब आने जैसी समस्याओं का भी अनुभव कर सकते हैं।

इन सभी शारीरिक लक्षणों की चिंता और परेशानी आपके दिमाग और शरीर के बीच एक दुष्चक्र पैदा कर देती है, जिससे तनाव और भी अधिक बढ़ सकता है।

इस चक्र को तोड़ने के लिए व्यायाम एक प्रभावी तरीका है। मस्तिष्क में एंडोर्फिन नामक रसायन  जारी करने के साथ-साथ शारीरिक गतिविधि मांसपेशियों को आराम करने और शरीर में तनाव को दूर करने में मदद करती है। चूँकि शरीर और मन इतने निकट से जुड़े होते हैं, जब आपका शरीर बेहतर महसूस करता है, तो भी आपका मन प्रसन्न रहेगा।

Benefit of Regular Exercise के लिए व्यायाम की शुरुआत कैसे करें

शुरुआत स्ट्रेचिंग से करें Exercise शुरू करने से पहले 5 मिनट का Warmup (वार्मअप) अवश्य करें इससे शरीर वर्कआउट के लिए पूरी तरह से तैयार हो जाता है।

एक्सरसाइज पूर्ण होने बाद थोड़ी देर के लिए रिलैक्सिंग एक्सरसाइज करना चाहिए जैसे की –सीधे पीठ की बल लेटकर आँख बंद कर लें शरीर के हर अंग को रिलैक्स होने देऔर आप अपनी सांसो और मन पर पूरा कंट्रोल करें किसी दुसरे विचार को इस समय अपने मन में नहीं आने दे इससे आपको शांति मिलेगी।

व्यायाम के समय इन बातों का ध्यान जरुर रखें

  • व्यायाम हमेशा अपने शारीरिक शक्ति के अनुसार ही करना चाहिए, ताकि आप थककर चूर ना हो जाएं,
  • किसी भी तरह का व्यायाम को हमेशा खाली पेट और शौच के बाद ही करें, संभव हो तो प्रातः काल में ही करना चाहिए,
  • अगर आप सुबह का समय नहीं दे सकते है, तो कभी भी खाना खाने के कम से कम चार घंटे बाद ही किसी प्रकार का व्यायाम करें,
  • इस समय शरीर पर मौसम के अनुकूल कम से कम और ढीले-ढाले कपड़े ही पहनना चाहिए ताकि शारीरिक क्रियाओं में बाधा ना हो,
  • एक्सरसाइज करने के तुरंत बाद कुछ भी नहीं खाना चाहिए,अगर जरूरत हो तो पानी, दूध या जूस पी सकते है,
  • पर ये ध्यान रखे कि खाना कम से कम आधे घंटे बाद ही खाना चाहिए,
  • व्यायाम हमेशा प्रसन्न मन के साथ तथा पर्याप्त समय निकाल कर ही करना चाहिए,
  • चिंता दुख तथा क्रोध के समय इससे लाभ के स्थान पर हानी भी ही सकती है,
  • योग या व्यायाम ऐसी जगह पर करें, जहाँ शुद्ध वायु का आवागमन हो संभव हो तो पार्क बगीचे में ही करें। 
  • संभव न हो तो घर के छत अथवा बाल्किनी में भी कर सकते है।
  • यदि आप घर के अन्दर कर रहें हो तो तेज पंखे के निचे नहीं करना चाहिए इससे अच्छा यह होगा की पंखा धीमा कर दें,और पसीना निकलने दें।
  • व्यायाम कभी भी ज्यादा दबाब से न करें, जहाँ दबाब देना आवश्यक हो वहां भी एक लय से धीरे धीरे जहाँ तक संभव हो जोर लगाना चाहिए।
  • कभी भी आवश्यकता से अधिक जोर नही लगाना चाहिए इससे हानी हो सकती है।
  • अगर आप व्यायाम करते है तो रेगुलर करना चाहिए कभी करने और कभी न करने से पर्याप्त लाभ नहीं मिलता है।
  • भले ही आप कभी कभी थोडा कम समय दे सकते है पर कम से कम सप्ताह में पांच दिन अवश्य  ही करे।

किसी भी राष्ट्र के सुन्दर और स्वस्थ भविष्य के लिए वहां के सभी लोगों के साथ -साथ युवकों का स्वस्थ होना बहुत जरुरी होता है और इसके लिए हमारे प्रधानमंत्री और स्वास्थ्य मंत्रालय की बहुत सी योजनाये लागु की गई है ।

आशा करते है आपको हमारा यहआर्टिकल Benefit of Regular Exercise (व्यायाम के शारीरिक और मानसिक लाभ) अच्छा लगा होगा |

धन्यवाद

इन्हें भी पढ़े – Motivational Quotes Hindi

लोन लेने के लिए पढ़े – IDBI से लोन कैसे लें

Manoj Verma
Manoj Vermahttp://hindimejane.net
Blogger, IT Professional, Website Designer, Website Developer
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments